close

Letter to editor

Letters

Letter to Editor on Education beyond Classroom Teaching in Hindi

Letter to Editor on Education beyond Classroom Teaching in Hindi | एजुकेशन बियोंड क्लासरूम पर संपादक को पत्र 

Question :

आप 48-एफ नीलम कॉलोनी, तमिलनाडु में रहने वाले नवनीत/पुष्पा हैं। कक्षा शिक्षण से परे शिक्षा के महत्व पर प्रकाश डालते हुए द हिंदू अखबार के संपादक को एक पत्र लिखें।

48-एफ नीलम कॉलोनी

तमिलनाडु

5 फरवरी, 2022

संपादक महोदय

द हिन्दू

विषय: कक्षा शिक्षण से परे शिक्षा के महत्व पर पत्र

आदरणीय महोदय,

आपके समाचार पत्र के माध्यम से, मैं संबंधित अधिकारियों और जनता का ध्यान कक्षा शिक्षण से परे शिक्षा की ओर आकर्षित करना चाहता हूं। हमारे देश में अधिकांश स्कूलों का मानना है कि सफल होने के लिए कक्षा में दी गयी शिक्षा महत्वपूर्ण है।

इस प्रक्रिया में, वे छात्रों की अन्य प्रतिभाओं और कौशल जैसे संगीत, चित्रकला, खेल, व्यक्तित्व निर्माण और सामुदायिक जुड़ाव जैसे गुणों पर इतना ध्यान नहीं देते हैं। बच्चों पर शिक्षा का दबाओ बनाने के बजाय उन्हें छात्रों के समग्र विकास पर ध्यान देना चाहिए। स्कूलों को यह देखना चाहिए कि छात्र कक्षा के बाहर भी कैसे सीख़ सकते है।

स्कूलों द्वारा छात्रों को स्थानीय समुदायों, कारखानों, कार्यालयों, विज्ञान केंद्रों एवं राष्ट्रीय उद्यान ले जाकर वहाँ के बारे में जानकारी दे सकते है । इससे वे चीजों को और बेहतर तरीके से सीख़ पायेंगे और समाज में एक सफल जीवन जीने के योग्य बन सकेंगे । इससे उनमे विभिन्न विषयों की व्यावहारिक समझ का भी विकास होगा और उनके व्यक्तिगत और सामाजिक कौशल को बढ़ावा मिलेगा।

  अतः मेरा आपसे अनुरोध है कि आप इस पत्र को अपने समाचार पत्र में जरूर प्रकाशित करें ताकि यह अधिक से अधिक लोगों तक पहुंचे और संबंधित अधिकारी इस संबंध में आवश्यक कार्रवाई कर सकें।

धन्यवाद

सादर

नवनीत/पुष्पा

Watch Video

Related Question :

आपका नाम कुनाल / मोनाली  है जो 125/252 ब्रह्म नगर, नई दिल्ली के रहने वाले हैं। आप एक स्कूल पत्रिका के संपादक हैं, लेकिन अब, आप इस्तीफा देने की इच्छा रखते हैं। इस संबंध में डीपीएस कल्याणपुर, नई दिल्ली के प्रधानाचार्य को एक पत्र लिखे।

125/252 ब्रह्म नगर

नई दिल्ली

24 जनवरी, 2022

प्रधानाचार्य

डीपीएस कल्याणपुर

नई दिल्ली

विषय: स्कूल पत्रिका के संपादक के पद से इस्तीफा देने के सम्बन्ध में पत्र।

आदरणीय महोदय,

            मैं इस पत्र के माध्यम से आपको सूचित करना चाहता हु कि मैं स्कूल पत्रिका के संपादक के रूप में अपना कर्तव्य नहीं निभा पाऊंगा। इस निर्णय के पीछे कारण यह है कि मैं अपनी पढ़ाई पर अधिक ध्यान केंद्रित करना चाहता हूं। मैं वास्तव में अपने परीक्षा के परिणामों से सन्तुस्ट नहीं हूं, जो की सही नहीं है।

जैसा कि मैं कक्षा-नौवीं में पढ़ रहा हूं, मुझे लगता है, मुझे अपनी पढ़ाई पर ज्यादा ध्यान देना चाहिए क्योंकि अगले साल मुझे बोर्ड की परीक्षा में शामिल होना है।

      कृपया मेरे अनुरोध को स्वीकार करें और किसी ऐसे व्यक्ति को मेरी नौकरी का प्रभार दें जो अधिक उपयुक्त हो और सुविधाजनक तरीके से कार्य कर सकता हो। आशा है, आप मेरी चिंता को समझेंगे और इस संबंध में आवश्यक कार्रवाई करेंगे।

धन्यवाद

आपका आभारी

कुनाल / मोनाली

Related Question :

अपने मित्र सौरभ को उसकी पुस्तक की सराहना करते हुए एक पत्र लिखें जो उन्होंने अपने लेखन कैरियर के दौरान लिखी । आप कमल / कोमल हैं।

20 जनवरी, 2022

प्रिय सौरभ,

                  मैं आपको यह बताने के लिए यह पत्र लिख रहा हूं कि मुझे आप पर कितना गर्व है। मैंने आपकी पुस्तक पढ़ी और मुझे बहुत अच्छी लगी । बहुत बढ़िया ! भाषा और प्रवाह जिसमें यह लिखी  गयी  है वह सराहनीय है। मुझे आपके शब्दों का चयन बहुत पसंद आया।

मुझे पता है कि आपकी अधिकांश पुस्तकें वास्तविक जीवन के अनुभवों से प्रेरित हैं और यह पुस्तक स्पष्ट रूप से प्रदर्शित करती है कि आप कितने प्रतिबद्ध और परिश्रमी हैं।

      आपने इस पुस्तक में पूरी तरह से सभी आवश्यक बिन्दुओ को अच्छी तरह से समझाया है। मित्र  जब से आप अपने लेखन करियर को आगे बढ़ाने के लिए यहाँ से गए हो, दुर्भाग्य से हम अलग हो गए हैं। मुझे उम्मीद है कि हम जल्द ही मिलेंगे। आशा है कि आप अपने सपनों को पूरा करेंगे।

तुम्हारा मित्र

कमल / कोमल

read more
error: Content is protected !!