close

आजादी का अमृत महोत्सव

Essays

Essay on Azadi Ka Amrit Mahotsav in hindi

आजादी का अमृत महोत्सव | Essay on Azadi Ka Amrit Mahotsav | Essay on Azadi Ka Amrit Mahotsav in hindi

Introduction :

“एक राष्ट्र की शक्ति उसके लोगो के दिल और आत्मा में बसती है।” ‘आजादी का अमृत महोत्सव’ का आगाज़ उपयुक्त पंक्तियों में  निहित है। “आज़ादी का अमृत महोत्सव” एक भव्य उत्सव है जो हमारे देश की स्वतंत्रता के 75 वर्ष पूरे होने के अवसर पर मनाया जा रहा हैं। इस “महोत्सव” की शुरुआत हमारे प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने 12 मार्च, 2021 को की। 12 मार्च की तारीख इसलिए चुनी गई क्योंकि गांधी जी ने उसी दिन 1930 में ऐतिहासिक दांडी मार्च की शुरआत की था। जवाहरलाल नेहरू, गांधी जी, भगत सिंह और सुभाष चंद्र बोस जैसे हमारे महान देशभक्त नेताओं के अथक प्रयासों के बाद हमें आजादी मिली है।

  • आज हम सभी इस महोत्सव के द्वारा 1857 के स्वतंत्रता संग्राम, महात्मा गांधी जी के “सत्याग्रह” जैसी सभी ऐतिहासिक घटनाओं को याद कर रहे हैं।
  • 75 सप्ताह के काउंटडाउन के साथ यह 15 अगस्त 2023 को समाप्त हो जाएगा। इस आयोजन के उपलप्छ में सभी राज्यों, केंद्र शाशित प्रदेशो, भारतीय दुतवासो पर जश्न मनाया गया साथ ही देश की एकता का सन्देश विश्व को पहुंचाया जा रहा है।
  • हमारे पीएम नरेंद्र मोदी जी ने इस अवसर पर “हर घर तिरंगा” अभियान शुरू किया। देश के सभी नागरिकों ने अपने घर पर तिरंगा फहराया और इस ‘आजादी का अमृत महोत्सव’ अभियान का हिस्सा बनने पर गर्व महसूस किया।
  • लाला लाजपत राय, बाल गंगाधर तिलक, सरदार वल्लभ भाई पटेल बिपिन चंद्र पाल आदि जैसे हमारे स्वतंत्रता सेनानियों के योगदान और बलिदान को दर्शाने के लिए देश के विभिन्न हिस्सों में विभिन्न प्रदर्शनियां भी आयोजित की गयी।

Conclusion :

राष्ट्रवाद और देशभक्ति की भावना पैदा करने के लिए, नागरिकों को राष्ट्रगान रिकॉर्ड करने और इसे “rastragaan.in” की वेबसाइट पर अपलोड करने के लिए प्रोत्साहित किया जा रहा है। इन सभी कार्यक्रमों को सरकार द्वारा “विजन इंडिया @ 2047” को ध्यान में रखते हुए किया गया है जब हम स्वतंत्रता की एक शताब्दी पूरी कर लेंगे। साथ ही भारत को और आगे बढ़ने के लिए प्रोत्साहित करने के लिए अगले 25 वर्षों को “अमृत काल” कहा गया है। यह “महोत्सव” निश्चित रूप से सभी पीढ़ी के लिए राष्ट्र निर्माण में अपना सर्वश्रेष्ठ देने के लिए एक उत्प्रेरक के रूप में कार्य करेगा। हमें भी एकजुट होकर अपने देश को महाशक्ति बनाने की पहल करनी चाहिए।

read more
error: Content is protected !!