close

Blog

Essays

Letter To Friend On Ayodya Verdict in english

You are Kamal/Komal living at 32/36 Ram Nagar, New Delhi. Write a letter to your friend Karan about Ayodhya Verdict : 

32/36 Ram Nagar

New Delhi

 

8th January, 2021

 

Dear Karan,

 

I am very well here and hope that you will also be hale and hearty. I am writing this letter to tell you about Ayodhya verdict. As we all know Lord Ram was born in Ayodhya and ruled over his kingdom from there. The people of Ayodhya built a temple there to commemorate his birth place known as Janmabhoomi.

A mosque was built at the same place by destroying the Janmabhoomi temple by Mir Baqi, a general of Babar in 1528. In December 1992, Babri Masjid structure demolished by karsevaks. On 9 November 2019, the SC, headed by Chief Justice of India Ranjan Gogoi, announced the verdict.

The disputed site to be given to Ramjanmabhoomi Nyas (trust) and the title of the land given to Ramlalla viraajman and Muslims to get another site of 5 acres for building Mosque. I hope this information will be helpful you in your competitive exams. Give my regards to mother and dad.

 

Yours lovingly

Kamal/Komal

 

Watch Video

read more
Essays

Essay on New educational policy in hindi

नई शिक्षा नीति 2020 पर निबंध – Essay on New educational policy in hindi :

नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति को देश की शिक्षा प्रणाली में समयनुसार उचित बदलाव करने के लिए केंद्रीय मंत्रिमंडल द्वारा 29 जुलाई, 2020 को मंजूरी दी गई। यह नीति देश में स्कूल और उच्च शिक्षा प्रणालियों में परिवर्तनकारी सुधार लेन में बहुत मददगार साबित होगी।

यह 21 वीं सदी की पहली शिक्षा नीति है। नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति का मुख्य उद्देश्य 2030 तक स्कूली शिक्षा में 100% सकल नामांकन अनुपात के साथ पूर्व-माध्यमिक से माध्यमिक स्तर तक शिक्षा का सार्वभौमिकरण करना है।

नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति द्वारा कुछ नए बदलाव लाये गए है, जिसमें भारतीय उच्च शिक्षा को विदेशी विश्वविद्यालयों में बढ़ावा देना, चार-वर्षीय बहु-विषयक स्नातक कार्यक्रम के लिए कई निकास विकल्पों के साथ प्रस्तुत करना शामिल है। इस  नई नीति का उद्देश्य भारत को वैश्विक ज्ञान महाशक्ति बनाना है।

 

स्कूल में वर्तमान 10 + 2 प्रणाली को एक नयी  5 + 3 + 3 + 4 पाठ्यक्रम प्रणाली से बदल दिया जाएगा। नई नीति के अनुसार, तीन साल की आंगनवाड़ी / प्री-स्कूलिंग के साथ 12 साल की स्कूली शिक्षा होगी।

स्कूल और उच्च शिक्षा में, छात्रों के लिए एक विकल्प के रूप में संस्कृत को भी सभी स्तरों पर शामिल किया जाएगा। यह नीति औपचारिक स्कूली शिक्षा के दायरे में प्री-स्कूलिंग को शामिल करेगी ।

मिड दे मील कार्यक्रम को प्री-स्कूल बच्चों तक बढ़ाया जाएगा। नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति, 2020 के अनुसार, छात्रों को कक्षा 5 तक उनकी मातृभाषा या क्षेत्रीय भाषा में पढ़ाया जाएगा।

यह नीति यह भी प्रस्तावित करती है कि सभी विश्वविद्यालयों और कॉलेजों को 2040 तक बहु-विषयक बनने का लक्ष्य रखना होगा। यह नीति देश में रोजगार के अवसरो को बढ़ावा देगी और हमारी शैक्षिक प्रणाली को मौलिक रूप से बदल देगी।

 

Watch Video

read more
Essays

Essay on Unemployment in hindi

भारत में बेरोजगारी की समस्या पर निबंध – Essay on problem of unemployment in hindi :

बेरोजगारी भारत में एक अहम समस्या बनती जा रही है  जब कोई व्यक्ति काम करने योग्य हो और काम करने की इच्छा भी रखता हो लेकि उसे काम का अवसर प्राप्त न हो तो वह बेरोजगार कहलाता हैं। आज हमारे देश मे लाखो लोग बेरोजगार है।

ऐसा इसलिए है क्योंकि नौकरियाँ सीमित हैं और नौकरी पाने वालो की संख्या असीमित हो चुकी है। भारत में बेरोजगारी एक गंभीर सामाजिक समस्या बन चुकी है। शिक्षा के अभाव और रोजगार के अवसरों की कमी के कारण बेरोज़गारी बढ़ती जा रही हैं।

बेरोज़गारी देश के आर्थिक विकास में बाधा पहुँचती तो है ही बल्कि व्यक्तिगत और पूरे समाज पर भी कई तरह के नकारात्मक प्रभाव डालती है। 2011 की जनगणना के अनुसार युवाओ का 20 प्रतिशत जिसमें 4.7 करोड़ पुरूष और 2.6 करोड़ महिलाएं पूरी तरह से बेरोजागार हैं।

यह युवा 25 से 29 वर्ष की आयु से हैं। यही कारण है कि जब कोई सरकारी नौकरी निकालती है तो आवेदको की संख्या लाखों को पार कर जाती हैं। तेजी से बढ़ती हुई जनसंख्या भारत मे बेरोजगारी का प्रमुख कारण हैं। वर्तमान शिक्षा प्रणाली भी दोषपूर्ण है।

बेरोजगारी को दूर करने में जनसंख्या वृद्धि पर नियंत्रण आवश्यक है। जिस अनुपात में रोजगार से साधन बढ़ते है, उससे कई गुना जनसंख्या में वृद्धि हो  जाती है। 

बेरोजगारी की दूर करने के सरकार द्वारा अनेक प्रयास किए गए है जिनमे राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार कार्यक्रम, ग्रामीण भूमिहीन रोजगार गारंटी कार्यक्रम, जवाहर रोजगार योजना, प्रधानमंत्री रोजगार योजना आदि कार्यक्रम शामिल है।

लेकिन अभी भी कुछ सख्त कदम उठाने बाकि है। बेरोजगारी को दूर करना देश का सबसे प्रमुख उद्देश्य होना चाहिए। नागरिकों को अधिक नौकरियों के निर्माण के साथ ही रोजगार के लिए सही कौशल प्राप्त करने के लिए प्रयास करना चाहिए।

Watch Video

(more…)

read more
1 25 26 27
Page 27 of 27
error: Content is protected !!