close
Essays

Essay on Unemployment in hindi

भारत में बेरोजगारी की समस्या पर निबंध – Essay on problem of unemployment in hindi :

बेरोजगारी भारत में एक अहम समस्या बनती जा रही है  जब कोई व्यक्ति काम करने योग्य हो और काम करने की इच्छा भी रखता हो लेकि उसे काम का अवसर प्राप्त न हो तो वह बेरोजगार कहलाता हैं। आज हमारे देश मे लाखो लोग बेरोजगार है।

ऐसा इसलिए है क्योंकि नौकरियाँ सीमित हैं और नौकरी पाने वालो की संख्या असीमित हो चुकी है। भारत में बेरोजगारी एक गंभीर सामाजिक समस्या बन चुकी है। शिक्षा के अभाव और रोजगार के अवसरों की कमी के कारण बेरोज़गारी बढ़ती जा रही हैं।

बेरोज़गारी देश के आर्थिक विकास में बाधा पहुँचती तो है ही बल्कि व्यक्तिगत और पूरे समाज पर भी कई तरह के नकारात्मक प्रभाव डालती है। 2011 की जनगणना के अनुसार युवाओ का 20 प्रतिशत जिसमें 4.7 करोड़ पुरूष और 2.6 करोड़ महिलाएं पूरी तरह से बेरोजागार हैं।

यह युवा 25 से 29 वर्ष की आयु से हैं। यही कारण है कि जब कोई सरकारी नौकरी निकालती है तो आवेदको की संख्या लाखों को पार कर जाती हैं। तेजी से बढ़ती हुई जनसंख्या भारत मे बेरोजगारी का प्रमुख कारण हैं। वर्तमान शिक्षा प्रणाली भी दोषपूर्ण है।

बेरोजगारी को दूर करने में जनसंख्या वृद्धि पर नियंत्रण आवश्यक है। जिस अनुपात में रोजगार से साधन बढ़ते है, उससे कई गुना जनसंख्या में वृद्धि हो  जाती है। 

बेरोजगारी की दूर करने के सरकार द्वारा अनेक प्रयास किए गए है जिनमे राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार कार्यक्रम, ग्रामीण भूमिहीन रोजगार गारंटी कार्यक्रम, जवाहर रोजगार योजना, प्रधानमंत्री रोजगार योजना आदि कार्यक्रम शामिल है।

लेकिन अभी भी कुछ सख्त कदम उठाने बाकि है। बेरोजगारी को दूर करना देश का सबसे प्रमुख उद्देश्य होना चाहिए। नागरिकों को अधिक नौकरियों के निर्माण के साथ ही रोजगार के लिए सही कौशल प्राप्त करने के लिए प्रयास करना चाहिए।

Watch Video

(more…)

read more
1 37 38 39
Page 39 of 39
error: Content is protected !!